काल करें–पुलिस सहायता–100, फायर ब्रिगेड–101 एम्बुलेन्स–108,महिला हेल्पलाईन–1090,चाइल्ड लाईन–1098 ,राष्ट्रीय स्वास्थ बीमा योजना हेतु टोल फ्री नम्बर– 1800–1800–4444

In compliance of IT Act 2000 and AADHAAR Act 2016, pages containing personal sensitive information (Mobile/AADHAAR/Bank A/c No) have been removed


Latest News

S.No News Heading Date
35 हाई स्कूल/इंटरमीडिएट बोर्ड परीक्षा 2018 के केन्द्रों कि सूची | 17-11-2017
34 एंटी भू-माफिया टास्क फोर्स व अन्य बिन्दुओ पर आयोजित समीक्षा बैठक की कार्यवृत्ति | 15-11-2017
33 जले ट्रान्सफार्मर की प्रतिदिन की स्थिति | 01-11-2017 to till date
32 Fight Against Corruption- Intigrity Pledge 30-10-2017
31 Banner Related Digital India through NIC Project, Infrastructure, Services & Implementation 30-10-2017
30 डिस्ट्रिक्ट सर्वे रिपोर्ट | 12-10-2017
29 जले ट्रान्सफार्मर की प्रतिदिन की स्थिति | 01-10-2017 to till date
28 एंटी भू-माफिया टास्क फोर्स व अन्य बिन्दुओ पर आयोजित समीक्षा बैठक की कार्यवृत्ति | 26-09-2017
27 एंटी भू-माफिया टास्क फोर्स व अन्य बिन्दुओ पर आयोजित समीक्षा बैठक की कार्यवृत्ति | 26-09-2017
26 ई-प्रोक्योरमेन्ट / ई-टेंडरिंग प्रशिक्षण का आयोजन दिंनाक:- 22.09.2017 से 23.09.2017 तक | 22-09-2017 से 23.09.2017 तक
..........more

About Siddharthnagar


(Hindi: सिद्धार्थनगर , Urdu: سدھارتھ نگر ‎) is one of the 75 districts of Uttar Pradesh state in Northern India. Naugarh town is the district headquarters. Siddharth Nagar district is a part of Basti division. The district is known for the ruins of the Shakya Janapada, at Piprahwa. 22 km from the district headquarters Naugarh. According to Government of India, the district Siddharthnagar is one of the minority concentrated districts in India on the basis of the 2001 census data on population, socio-economic indicators and basic amenities indicators.

..........more

जनपद – सिद्धार्थनगर का परिचय


जिले का इतिहास भगवान गौतम बुद्ध से जुड़ा है | इनके पिता शुद्धोधन की राजधानी कपिलवस्तु इसी जिले में है | इस जनपद का नामकरण गौतुम बुद्ध के बाल्यावस्था नाम राजकुमार सिद्धार्थ के नाम पर हुआ है | अतीतकाल में वनों से आच्छादित हिमालय की तलहटी का यह क्षेत्र साकेत अथवा कौशल राज्य का हिस्सा था | ईसा पूर्व छठी शताब्दी में शाक्यों ने अपनी राजधानी कपिलवस्तु में बनायीं और यहाँ एक शक्तिशाली गणराज्य कि स्थापना की | काल के थपेड़े से यह क्षेत्र फिर उजाड़ हो गया | ..........more

OUR MENTORS

 
Kunal Silku,(I.A.S),
  DM,Siddharthnagar
Mobile No.- 9454417530